Coronavirus क्या है ? COVID-19 Full Form In Hindi. WHO कौन है और इसका फुल फॉर्म क्या है?

COVID 19 Full Form in Hindi– जैसा की हम सबने देखा की कैसे करीब 1 साल से ज्यादा समय से सब कुछ बंद था, इसी बीच इंटरनेट पर Covid 19 ही सबसे ज्यादा सर्च किया जाने वाला मुद्दा बना रहा और अब भी बहुत से लोग इंटरनेट पर सर्च करने लगे जैसे Coronavirus क्या है? Covid 19 Full Form In Hindi, WHO कौन है इसका फुल फॉर्म क्या है वगैरा वगैरा। हर कोई कोविड 19 के बारे में हर एक बात जानना चाहता है तो कुछ लोग इसके हर एक रहस्य के बारे में भी जानना चाहते है।

इसी वजह से हमने भी सोचा की क्यों न हम आप तक Covid 19 Full Form In Hindi, WHO कौन है? से सम्बंधित हर वो बात आपको बताये जो आपको जानना ही चाहिए तो चलिए शुरू करते है।

Coronavirus (कोरोना वायरस रोग ) क्या है?

Coronavirus वायरस नहीं है, ये वायरस की एक फॅमिली का नाम है जो सामान्य जुखाम से लेकर गंभीर स्वरुप की बीमारी जैसे की मिडल ईस्ट रिस्पेरेटरी सिंड्रोम कोरोनावायरस ( Middle East Respiratory Syndrome-MERS) और सीवियर एक्यूट रिस्पेरेटरी सिंड्रोम कोरोनावायरस (Severe Acute Respiratory Syndrome- SARS) का कारण बनता है।

COVID- 19 की पहचान चीन के सबसे बड़े औद्योगिक शहर वुहान में 31दिसंबर 2019 में पहचान हुई थी। WHO के अनुसार यह एक बिलकुल भी नया वायरस है जिसे आज तक कभी भी नहीं देखा गया।

COVID-19  कोरोना वायरस का आधिकारिक नाम है।  यह नाम विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दिया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसी महामारी घोषित किया है।

ऐसा माना जा रहा है की कोरोना वायरस जानवरो से उत्पन हुआ था. और मानव उनके संपर्क में आने से संक्रमित हो गए।

जब कोरोना वायरस से संकर्मित वयक्ति छीकता है या खासी करता है या पहले से कोरोना वायरस से ग्रषित किसी भी वस्तु को छूटा है तो कोरोना वायरस उस रोगी के शरीर से पानी की छोटी बूंदो के रूप में दुसरे मानव में आ जाता है और वो कोरोना वायरस से ग्रषित हो जाता है।

कोरोना वायरस बीमारी के लछण क्या क्या है?

इस बीमारी से पीड़ित वयक्ति को तेज़ बुखार और बदन दर्द के साथ साथ सांस लेने में कठिनाई होने लगते है।  तेज़ भुखार के साथ साथ रोगी को सर्दी और खासी भी होती है। जैसा जी हमने देखा है और कई बड़े डॉक्टरों का कहना है की कोरोना वायरस उस वयक्ति के लिए ज्यादा खतरनाक साबित होगा जो पहले से किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हो जैसे शुगर, एड्स, कैंसर आदि

सिगरेट को हिंदी में क्या कहते है 

WHO के आकड़ो के अनुसार कोरोना वायरस बीमारी से मरने वालो में वो लोग ज्यादा शामिल थे जो उम्रदराज थे यानी उनका उम्र 50 साल से ज्यादा था।

भारत में आबादी के अनुसार कम लोगो की मृत्यु हुई जितने अमेरिका और दुसरे देश में हुआ।

COVID-19 Full Form In Hindi. What is the Full Form of COVID-19?

कोरोना वायरस के चारो तरफ प्रोटीन की स्पाइक्स होती है. इलेक्ट्रान मॉरोस्कोप से देखने के पर ये स्पाइक्स बादशाह के ताज जैसी दिखती है।

ताज को अंग्रेजी में बोलते है क्राउन, क्राउन से आया कोरोना, और क्राउन जैसी बनावट से घिरे वायरस कहलाते है कोरोना वायरस।

सूरज के चारो तरफ प्लाज़्मा निकलने से जो आकृति बनती है, उसे भी कोरोना कहते है।  WHO ने इस बीमारी को Covid -19  का नाम दिया है।  Covid का मतलब है कोरोना वायरस डिसीज़।  2019 में इसे आने के वजह से इसके आगे 19 लगाते है।

कोरोना वायरस का असली नाम क्या है?

कोरोना वायरस का असली नाम SARV-C0V 2 है. Serve Acute Respiratory Syndrome Coronavirus 2. 

वायरस का ये नाम ICTV ने दिया है. ICTV का मतलब होता है International Committee on Taxonomy of Viruses.

कोरोना वायरस का फोटो

इलेक्ट्रान माइक्रोस्कोप से ऐसा दीखता है कोरोना वायरस। ( फोटो सोर्स विकिपीडिया )

कोरोना वायरस के नाम में 'कोरोना' का मतलब क्या है?

WHO कौन है? Who is WHO? इसकी स्थापना कब हुई?

WHO का फुल फॉर्म World Health Organization है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO ) विश्व के देशो के स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओ पर आपसी सहयोग एव मानव को स्वास्थ्य सम्बन्धी समाज विकसित करने की आस्था है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के 194 सदस्य देश तथा दो सम्बन्ध सदस्य है।

इस संस्था की स्थापना 7 अप्रैल 1948 को की गयी थी।  उसका उद्देश्य संसार के लोगो के स्वास्थ्य का स्तर ऊँचा करना है।  WHO का मुख्यालय स्विटजरलैंड के जेनेवा शहर में स्थित है।

भारत भी विश्व स्वास्थ्य संगठन का एक सदस्य है और इसका भारतीय मुख्यालय भारत की राजधानी दिल्ली में स्थित है।

कोरोना वायरस का उपचार क्या है?

जब ये वायरस पूरे दुनिया में फैला था तब इसका कोई भी दवा नहीं था लेकिन इसका दवा कुछ देशो ने बना लिया है इनमे से हमारा देश भारत भी है। लेकिन ऐसा नहीं है की दवा आ गया है तो आप अपनी मन मानी करोगे और कोरोना से बचा जाने वाले घरेलु उपचार को भूल जाओ।

मै ऐसे ही कुछ घरेलु उपाय बताने आज रहा हु जिसको अगर आप अच्छे से फॉलो करते है तो निश्चय ही आओ कोरोना वायरस जैसी महामारी से बच पाएंगे। तो चलिए जानते है वो उपाय क्या है?

  • दवा के आने से पहले कुछ डॉक्टरों ने ये दावा किया है की उन्होंने एड्स की दवा से सफलतापूर्वक इलाज़ कर दिया है
  • अगर आपके बॉडी का रोग प्रतिरोधक छमता अच्छा है तो आप इस बीमारी को आसानी से मात दे सकते है।

कोविड-19

कोरोना वायरस की दवा कब तक आएगी?

रूस के बाद चीन ने भी अपनी कोरोना वायरस वैक्सीन लांच कर दी है।  अमेरिका ने भी अपनी कोरोना वायरस वैक्सीन लांच कर दी है।  इसी के साथ साथ भारत ने भी अपनी वैक्सीन लॉन्च कर दी है।

covid 19 full form in hindi

पूरे भारत देश में कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू हो चुका है। इस अभियान में सीरम इंस्टिट्यूट की कोविडशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन से लोगो को वैकसीनेट किया जाएगा। इस दौरान हर एक वयक्ति कम से कम 14 दिन के अंतराल में वैक्सीन के दो शॉट दिए जायेंगे।

लेकिन इसमें एक सवाल उठता हिअ वैक्सीन लगने के कितने दिन बाद किसी इंसान का शरीर इन्फेक्शन से बचा रहेगा यानी वैक्सीन से शरीर में बनी एंटीबाडी कितने दिन तक रहेगी।

कोरोना वेक्सीन के लिए कैसे कराये रजिस्ट्रेशन- How I Register For Corona Virus Vaccine?

कोरोना वायरस का दूसरा चरण 1 मार्च से शुरू हो चुका है।  कोविड-19 वैक्सीनेशन (COVID-19 vaccination) के दूसरे राउंड में प्राइवेट अस्पतालों में भी टीके लगाए जाएंगे, लेकिन इसके लिए आपको चार्ज देना होगा. हालांकि सरकारी हॉस्पिटलों में कोरोना के टीके बिल्कुल मुफ्त लगाए जाएंगे. टीका लगवाने के लिए आपको अपना रजिस्ट्रेशन करना होगा।

प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना के टीकाकरण के लिए 250 रुपये की अधिकतम सीमा तय की गयी है इसमें 150 रूपया टीके की कीमत है और 100 रुपये हॉस्पिटल का सर्विस चार्ज के तौर पर वसूलने की अनुमति होगी इस।  तरह आपको करना के 2 खुराक के लिए आपको 500 रूपये देने होंगे।

वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन कहा करे?

अगर आप कोरोना का टीका लगवाना चाहते हो तो इसके लिए आपको अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा इसके लिए खुद कोविन  2.0  पोर्टल (CO-Win 2.0 portal ) पर अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते है।

अगर आप चाहो तो आरोग्य सेतु अप्प के जरिये कोविन वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करा सकते है. अगर आप करना चाहते है तो आपको सीधा COWIN.GOV.IN ओर जाकर वैक्सीन के लिए रजिस्टर्ड करा सकते है इसके अलावा आप अपने नज़दीक के वैक्सीनेशन सेंटर (Vaccination Centers) पर जाकर रजिस्ट्रेशन करा सकते है

मोबाइल फ़ोन से वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करे?

CO-Win एप या वेबसाइट पर जाए, अपना मोबाइल नंबर डाले , अब आपके पास एक OTP जाएगा। OTP दर्ज़ करके अपना अकाउंट बनाये यहाँ आपको अपना नाम, उम्र, लिंग आदि की जानकारी देने होगी और अपने एक फोटो पहचान पत्र अपलोड करना होगा।

अगर आपकी उम्र 45 साल से ज्यादा है और को-मोर्बिडिटी है तो उसका सर्टिफिकेट अपलोड करना होगा। अब आपको टीकाकरण केंद्र और तारिख का चुनाव करना होगा।  जानकारी के लिए मैं आपको बता दू की एक मोबाइल नंबर के जरिये 4 अपॉइंटमेंट्स लिए जा सकते है।

अगर आपका उम्र 60 साल से ज्यादा है तो आप फ़ोन से कॉल करके रजिस्ट्रेशन करा सकते है. इसके लिए आपको साल सेण्टर का नंबर 1507 डायल करना होगा।

निष्कर्ष (Conclusion) आशा करता हु की जो मैंने आपको बताया है इस पूरे पोस्ट में जैसे Coronavirus क्या है ? COVID-19 Full Form in Hindi. कोरोना वायरस के लक्षण क्या क्या है, कोरोना वायरस की वैक्सीन का रजिस्ट्रेशन कैसे करे, वगैरा वगैरा बताया है आपको ज़रूर पसंद आया होगा।  अगर हम हमें कोई सुझाव देना चाहते है या फिर कोई शिकायत करना चाहते है तो नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है या फिर हमें ईमेल भी कर सकते है। धन्यवाद 🙂

Disclaimer: इस पोस्ट में हमने आपसे जितने भी बाते शेयर की है सब इंटरनेट से सर्च करके ही इस पोस्ट को लिखा गया है कुछ भी आप करने से पहले सब कुछ अवश्य जांच ले अन्यथा किसी भी अनहोनी की ज़िम्मेदारी हमारा वेबसाइट या हमारा टीम नहीं लेती है।  

Leave a Comment

x